बिहड़ाचल क्षेत्र में हुई वारिश किसानों में खुशी की लहर


जालौन,(स्वतंत्र प्रयाग) रामपुरा ब्लॉक  क्षेत्र के सभी ग्रामों में  सिंचाई के लिए चिंतित किसानों को गुरुवार की सुबह से शुरू हुई वारिस ने राहत दी है।अब उनको फसल में पानी लगाने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा बुधवार सुबह करीब 8:00 बजे से ही आसमान में बादल घिर आए और बारिश होने लगी जिस में ठंड में इजाफा हो गया है।
 


बच्चों व बुजुर्गों के लिए रजाई और अलाव सहारा बना किसानों का कहना है कि 2 दिनों की धूप के बाद हुई बारिश फसलों के लिए फायदेमंद है।गेहूं और सरसों को लाभ मिलेगा वहीं पर फसलों में पहला पानी लगाने की तैयारी चल रही है इससे बूंदाबांदी रामबाण साबित होगी।


जंगली इलाके में खेतों की सिंचाई का साधन सिर्फ नलकूप या इंद्र देव की कृपा ही है।इस समय नाही की फसल खेतों में लहरा रही है और उसे पानी की जरूरत भी है बरसात ने संजीवनी वरदान कर किसानों को कुछ राहत प्रदान की है।
 निनावली डिकोली नरोल सिद्धपुरा मिर्जापुर आग कदमपुरा आदि सहित कई जंगली इलाके में बोई गई लाई की फसलों के लिए यह बारिश मुफीद साबित हो रही।