आखिर कब रुकेगा अवैध खनन ? उच्चतम न्यायालय के आदेश का क्यो नही हो रहा पालन


 प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग) एक तरफ जहाँ  उत्तरप्रदेश की योगी सरकार अवैध खनन रोकने के लिए तरह तरह के नियम बना कर अवैध खनन रोकने का प्रयाश कर रही है। किंतु प्रयागराज जनपद के बारा तहसील की पहाड़ियों पर खुलेआम अवैध खनन माफियाओं द्वारा भारी पैमाने पर किया जा रहा है बारा तहसील के प्रतापपुर परवेजाबाद छेड़ी छतहरा आदि पहाड़ियों पर अवैध खनन करके गिट्टी पत्थर की तुड़ाई अवैध क्रेसर प्लांट पर हो रही है।


नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) के नियमो को ताक  पर रख कर तथा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की मिलीभगत से पर्यावरण की बिना परवाह किये खुलेआम क्रेसर संचालित किए जा रहे है। जानकारी के अनुसार उपजिलाधिकारी बारा ने इन क्रेशरों के खिलाफ शिकायत होने पर खबर अखबारों में आने से रोक लगाए थे।


किंतु ये भी सब खानापूर्ति ही रह गया है अब खुलेआम क्रेसर प्लांट संचालित हो रहे है खनन माफियाओं को जरा सा भी डर नही है स्थानीय पुलिस की मिलीभगत से खुलेआम अवैध खनन किया जा रहा है। जबकि माननीय न्यायालय का स्पष्ट आदेश है कि अवैध खान किसी भी तरह नही होना चाहिए किन्तु लालापुर पुलिस को न्यायालय के आदेश का भी कोई असर नही पड़ता।


   लालापुर पुलिस की जानकारी में अवैध खनन करके ट्रक ओवरलोड निकलते है कोई भी कार्रवाई नही होती है  क्रेसर प्लांटो से खुलेआम ओवरलोड ट्रक लालापुर प्रतापपुर मार्ग से घूरपुर से निकलते है। खनन माफिया पुलिस से मिलकर खुलेआम ओवरलोड करके अवैध खनन करके जाते है पुलिस कुछ भी नही करती अगर कोई ट्रक धोखे से अगर बिना लालापुर पुलिस से मिले एक भी कुंटल माल ज्यादा लेकर आ जाए  तो लालापुर पुलिस जिससे पुलिस का मतलब आप समझ गए होंगे।


उसी को बंद करके खानापूर्ति कर लेते है अब सवाल ये खड़ा होता है कि प्रतिदिन लगभग सैकड़ो ट्रक अवैध खनन करके ओवरलोडिंग करके इसी थानें से गुजरते है। क्यो अधिकारी संज्ञान नही लेते है क्यो नही अवैध खनन रोकते। लालापुर थानें  से अवैध खनन करके जमुना से  बालू क्रेसर प्लांट से सैकड़ो ट्रक गिट्टी लादकर  निकलते है जिससे सरकार का प्रतिदिन कई लाख  राजस्व का नुकसान हो रहा है।



मंगलबार की बीती रात को किसी ने जनसुनवाई के माध्यम से शिकायत किया, या शायद  जिलाधिकारी प्रयागराज को अवैध खनन ओवरलोड की जानकारी हुई तो जिलाधिकारी ने खुद चेकिंग प्वाइंट पर जांच कराई। तो सैकड़ो ट्रक अवैध खनन तथा ओवरलोडिंग में पकड़े गए जिनके खिलाफ जिलाधिकारी प्रयागराज ने कार्रवाई करके कुछ का चलन तो कुछ को थाने में निरुद्ध कर दिया ।



जिससे अगर देखा जाय तो एक दिन में करोड़ो की राजस्व की चोरी पकड़ी गई। अगर जिलाधिकारी प्रयागराज और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज यही जांच प्रतिदिन करवा लें तो शायद ये चोरी रुक सकती है और राजस्व का जो नुकसान हो रहा है वह भी बढ़ जाएगा । पिछली सरकार में अवैध खनन को लेकर बड़ा ही पेचीदा मामला रहा जिसमे कई जिलाधिकारी जांच के दायरे में है।


C B I माननीय न्यालय के आदेश पर जांच कर रही है अब अगर यही स्थिति रही तो अवैध खनन को बढ़ावा तो मिलेगा साथ ही माफियाओ के हौसले बुलंद होंगे ।साथ ही राजस्व जो रायल्टी करोड़ो में जो आती  थी कम हो जाएगी। साथ ही मुख्यमंत्री जी की जो मंशा है उस पर पानी फिर जाएगा। तथा माननीय न्यायालय के आदेशों की अवहेलना होगी । बारा तहसील के एक समाजसेवी तथा जनता ने जिलाधिकारी प्रयागराज से अवैध खनन रुकवाने की जोरदार मांग किया है।