गुरुवार, 26 दिसंबर 2019

यन एच ए आई द्वारा चलाया जा रहा ओवरलोड सरकार को लाखो का हो रहा नुकसान

       



 प्रयागराज(स्वतंत्र प्रयाग) जनपद के बारा व मेजा तहसील की पहाड़ियों में लगभग तीन दर्जन से अधिक क्रेसर प्लांट धड़ल्ले से चल रहे है जहां से प्रतिदिन सैकड़ो ट्रक ओवरलोड गिट्टी पत्थर लोड करके चलते है जिसमे सरकार का प्रतिदिन कई लाखों रुपये राजस्व की कमाई का नुकसान हो रहा है साथ ही माननीय न्यायालय के आदेशों की हर दस मिनट में अवहेलना की जा रही है।, बताते चले कि माननीय उच्चतम न्यायालय ने कहा था कि किसी भी हालत में उत्तर प्रदेश में अवैध खनन नही होगा


पिछली सरकार में अवैध खनन को ले कर सी बी आई जांच भी चल रही है कई अधिकारियों की जांच चल रही है यहां तक कि अवैधखनन के मामले में तत्कालीन खनन मंत्री जेल में बंद है जांच भी चल रही है। खनन विभाग माननीय मुख्यमंत्री जी खुद अपने पास रखे है काफी हद तक प्रदेश में अवैध खनन पर रोक भी लग चुकी है।


सरकार ने अवैध खनन रोकने के लिए बालू तथा गिट्टी मोरम घाटों पर कांटा भी लगवा दिया कि ओवरलोड किसी भी दशा में वहां लोड करके नही जाएंगे किन्तु बालू खनन माफिया के इशारे पर खुद खनन पट्टेधारक ओवरलोड ट्रक लोड करवाकर धड़ल्ले से निकलवा रहे है इसमें सरकार ने अवैध खनन रोकने के लिए स्थानीय स्तर पर उपजिलाधिकारी खनन विभाग तथा स्थानीय पुलिस विभाग को लगाया कि किसी भी दसा में अवैध खनन न होने पाए किन्तु यहां पर ऐसा नही है खुलेआम माननीय न्यायालय के आदेशों की हर दस मिनट में ओवरलोड करके धडल्ले से निकलते है ।


सभी अधिकारी तथा पुलिस की मिलीभगत से अवैध खनन करके ओवरलोड सैकड़ो ट्रक निकलते है साथ ही यन एच ए आई  के ठीकेदार भी ओवरलोड ट्रक निकलने में पूरा सहयोग करते है जब कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने आदेशित किया है किकिसी भी तरह से ओवरलोड वाहन टोल प्लाजा से नही गुजरेंगे जिसमे केंद्रीय परिवहन मंत्री ने सड़को पर जाम न लगे फास्टैग की व्यवस्था कर दिया कि टोल प्लाजा पर पहुचते ही स्कैन करके फास्टैग के जरिये ट्रक मालिक के खाते से टोल का पैसा कट जाएगा किन्तु टोल प्लाजा के संचालक ठीकेदार फास्टैग के माध्यम से पैसा नही लेते है नगद पैसा लेते है इसमें ओवरलोड ट्रको से प्रति ट्रक दो हजार से तीन हजार वसूलते है कभी कभी ट्रक चालकों में ज्यादा पैसे को लेकर विवाद भी होता है।


किंतु ओवरलोड अवैध खनन से तर्क मालिक को मोटी रकम मिलती है जिससे टोल प्लाजा आर टी ओ पुलिस को बांट देते है इस काले कारनामे में सभी की मिली भगत है तोलप्लाज़ा पर यह ट्रक चालक जब निकलते है तो यन एच ए आई  विभाग की छपी हुई रसीद अधिकृत रसीद नही देते है टिकट काटने बाली मसीन से रसीद दी जाती है कोई भी कुछ बोलने को तैयार नही है ।


कोई भी अधिकारी इस पर कोई भी कार्यवाई नही करते है इससे महज अंदाज ही लगाया जा रहा है कि माननीय न्यायालय के आदेशो की अवहेलना खुलेआम तो हो ही रही है साथ ही सरकार की मंशा के विपरीत हो रहा है जिससे सरकार का जो लाखो रुपये राजस्व मिलता भारी नुकसान हो रहा है स्थानीय लोगो ने मुख्यमंत्री की जनसुनवाई में भी फोन करके शिकायत दर्ज कर चुके है ।


किंतु अधिकारी जानते है जनसुनवाई में मात्र खानापूर्ति करना है लिख कर भेज देते है मुख्यमंत्री की इस लोकप्रिय योजना जनसुनवाई का भी सम्मान नही करते है शिकायत करते रहिए ये अपने काम मे मस्त है बात जो भी हो यह तो कहना मुश्किल है किंतु अवैध खनन परिवहन भारी पैमाने पर किया जा रहा है जिससे माननीय न्यायालय के आदेशों की अवहेलना तो हो रही है साथ राजस्व का भारी नुकसान हो रहा है


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें