शाहजहांपुर में ठेकेदार की हत्या का खुलासा,पांच गिरफ्तार


शाहजहांपुर (स्वतंत्र प्रयाग): उत्तर प्रदेश में शहजहाँपुर के में दो दिसम्बर को दिनदहाड़े की गई ठेकेदार राकेश यादव की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने दो शूटरों समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक एस चन्नप्पा ने रविवार को यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया दो दिसम्बर को राजकीय ठेकेदार राकेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी ।


ठेकेदार की हत्या का मास्टरमाइंड अभय राज गुप्ता मलेशिया में है और उसने इस घटना अंजाम दिलवाया था। उन्होंने बताया कि पछताछ पर खुलासा हुआ कि अभय की मां ने यहां शार्प शूटरों को हथियार मुहैया करवाए।उन्होंने बताया कि ठेकेदार की हत्या करने वाले दो शूटर मेरठ के रहने वाले राहुल चौधरी और गौरव जिंदल हैं।


पुलिस ने दोनों शूटर और उन्हें हथियार मुहैया कराने वाली अभय की मां मीता गुप्ता समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है । उन्होंने बताया कि पता चला कि विदेश में बैठे मास्टरमाइंड अभय राज गुप्ता की राकेश यादव से पुरानी दुश्मनी चल रही थी। जिसमे पहले दोनों परिवारों के एक-एक सदस्य की हत्या हो चुकी थी।


राकेश यादव अपने परिवार की रीढ़ की हड्डी था। जिसके चलते अभय राज गुप्ता ने उसकी ही हत्या का षड्यंत्र रचा। अभय ने अपनी मां के साथ इंदौर के रहने वाले शूटर आसिफ के साथ मिलकर 20 लाख रुपए में सुपारी देकर ठेकेदार की हत्या की योजना बनाई थी।


पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हत्या से तीन दिन पहले अभय राज गुप्ता मलेशिया चला गया था और दो दिसम्बर को शूटर राहुल चौधरी, गौरव जिंदल और आसिफ ने मिलकर लोक निर्माण विभाग के कार्यालय में ठेकेदार राकेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस घटना में राकेश यादव का निजी गनर सोनू भी घायल हो गया था।


हत्या के बाद शार्प शूटर मेरठ और इंदौर को वापस चले गए थे। उन्होंने बताया कि तीसरा शूटर आसिफ अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। स्थानीय स्तर पर शूटरों की मदद करने वाले तीन और लोगों के नाम प्रकाश में आये हैं।


पुलिस ने चारो फरार आरोपियों की गिरफ्तारी पर 25-25 हजार का इनाम घोषित किया है। उन्होंने बताया कि हत्या के मास्टरमाइंड अभय राज की गिरफ्तारी के लिए मलेशिया दूतावास के माध्यम से कार्रवाई की जा रही है। गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेजा जा रहा है।