सपा, बसपा और कांग्रेस में मुख्य विपक्षी बनने की होड़ 


लखनऊ (स्वतंत्र प्रयाग): दिल्ली में कांग्रेस की शनिवार को भारत बचाओ रैली में उत्तर प्रदेश की भागेदारी से उत्साहित पार्टी में अब मुख्य विपक्षी बनने की उम्मीद जाग गई है तो समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी भी अगले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को पीछे छोड़ देने की जुगत में लगी हैं।उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 के शुरूआत में होने हैं, लिहाजा समय अब दो साल का ही बचा है।



भारत बचाओ रैली में मुख्य भागेदारी उत्तर प्रदेश की ही थी जिसके लिये पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पूरे जोरशोर से लगी थीं। उन्होंनें हर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं को दिल्ली पहुंचने की अपील की थी। उनकी अपील का असर भी नजर आया और बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता दिल्ली गये।



प्रियंका वाड्रा पिछले 07 दिसम्बर को उन्नाव भी गई थीं जहां एक महिला को जिंदा जलाया गया था। वो पीड़ित परिवार से भी मिलीं और हर सदस्य से घर में अकेले में बात की थी। वो उत्तर प्रदेश में होने वाली हर छोटी बड़ी घटना पर राज्य और केंद्र सरकार पर हमलावर होती रही हैं । मामला चाहे गन्ना किसानों के बकाये का हो या कानून व्यवस्था का ।


उन्नाव की घटना को लेकर पूरे देश में आलोचना का शिकार बनी उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रियंका गांधी को वहां जाने से नहीं रोका क्योंकि इससे पहले सोनभद्र में दस आदिवासियों की हत्या के बाद राज्य सरकार ने उन्हें जाने से रोका था जिसे लेकर बहुत हंगामा हुआ था।