मंगलवार, 24 दिसंबर 2019

राहुल-प्रियंका के काफिले को रोकने के प्रयास में , बाल बाल बचे पुलिस अधिकारी 


परतापुर (स्वतंत्र प्रयाग) मेरठ कांग्रेस महासचिव और प्रियंका गांधी आज दोपहर मेरठ हिंसा में मारे गए लोगों के परिवार से मुलाकात करने के लिए जा रहे थे कि उन्हें शहर से बाहर परतापुर थानाक्षेत्र की मोहिउद्दीनपुर पुलिस चौकी पर ही रोक लिया गया।


इस दौरान राहुल और प्रियंका के काफिले की गाड़ी पुलिस पर चढ़ते-चढ़ते बची। इस दौरान सीओ और एक इंस्पेक्टर बाल-बाल बचे। हालांकि पुलिस ने दोनों नेताओं को शहर में प्रवेश नहीं करने दिया गया जिसके बाद वे वापस दिल्ली लौट गए।
सीओ ब्रह्मपुरी चक्रपाणि त्रिपाठी ने बताया कि कि राहुल-प्रियंका के मेरठ पहुंचने की सूचना पर परतापुर क्षेत्र में पुलिस फोर्स को अलर्ट कर दिया गया था। इस दौरान सीओ ब्रह्मपुरी चक्रपाणि त्रिपाठी खुद और इंस्पेक्टर परतापुर आनंद मिश्रा पुलिसफोर्स के साथ मेरठ मोदीपुरम सीमा पर खड़े थे, ताकि दोनों नेताओं को मेरठ में प्रवेश करने से रोका जा सके।


पुलिस द्वारा रुकने का इशारा करने पर भी एस्कॉर्ट ने गाड़ी नहीं रोकी और आगे बढ़ते रहे। बताया गया कि गाड़ी आगे बढ़ते ही सीओ और इंस्पेक्टर पीछे हो गए अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। हालांकि बाद में पुलिस फोर्स ने एस्कॉर्ट और काफिले की अन्य गाड़ियों का पीछा किया जिसके बाद परतापुर थाने के पास बैरियर लगाकर राहुल-प्रियंका के काफिले की सभी गाड़ियों को रोका गया।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें