पंकजा मुंडे ने दिए बगावत के संकेत, कहा- जल्द लूंगी बड़ा फैसला 

मुंबई (स्वतंत्र प्रयाग): महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सत्ता जाते ही देवेंद्र फडणवीस के खिलाफ पार्टी के भीतर विरोध के स्वर उठने लगे हैं। पार्टी नेता पंकजा मुंडे ने एक तरह से बगावत की आवाज बुलंद करते हुए शक्ति प्रदर्शन के संकेत दिए हैं। पंकजा मुंडे ने पिता गोपीनाथ मुंडे की बरसी पर 12 दिसंबर को समर्थकों की बैठक बुलाई है। उन्होंने कहा कि वे 8-10 दिन में बड़ा फैसला लेंगी।


चुनाव में हार के बाद समर्थकों के कई फोन-मैसेज आए और मिलने का आग्रह किया गया लेकिन राजनीतिक स्थिति ऐसी रही कि समर्थकों से मिलना नहीं हो सका। बता दें, फडणवीस सरकार में पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे अपने गढ़ परली से चुनाव हार गई थीं। 


पंकजा को उनके चचेरे भाई धनंजय मुंडे से मात मिली। धनंजय मुंडे फिलहाल उद्धव सरकार के साथ हैं। महाराष्ट्र विधानसभा में नेता विपक्ष धनंजय मुंडे ने अपनी बहन को लगभग 30000 वोटों से शिकस्त दी थी। धनंजय मुंडे को 121186 वोट मिले तो वहीं पंकजा मुंडे को मात्र 90418 वोट हासिल हुए थे।
 


बदले राजनीतिक परिदृश्य में भावी कार्रवाई पर निर्णय लिया जाना जरूरी है। अगले 8-10 दिन में तय करूंगी कि आगे क्या करना है, किस रास्ते पर मुझे चलना है। हमारी मजबूती क्या है, इस पर ध्यान देना जरूरी है। पंकजा मुंडे ने कहा, मुझे बहुत कुछ बोलना है। मुझे उम्मीद है कि मेरे 'जवान' रैली में जरूर पहुंचेंगे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

विधालय का ताला तोड़कर चोरों ने हजारों का सामान किया चोरी