पंकजा मुंडे की पोष्ट ने फिर बढ़ाया सस्पेंस, कहा- 12 तक करें इन्तजार



मुंबई (स्वतंत्र प्रयाग): भाजपा के कद्दावर नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे की पार्टी नेताओं से चल रही नाराजगी अभी तक दूर नहीं हुई है। बीजेपी के कद्दावर नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे ने मंगलवार को कहा कि वह बीजेपी की एक ईमानदार कार्यकर्ता रही हैं और वह अपने ऊपर लगे आरोपों से आहत हैं।


उन्होंने कहा, मैं पार्टी (बीजेपी) की ईमानदार कार्यकर्ता रही हूं, मैंने पार्टी के लिए काम किया है। अपने खिलाफ लगे आरोपों से मैं व्यथित हूं। मैं अब 12 दिसंबर को ही बोलूंगी, फिलहाल मैं कुछ नहीं कहना चाहती हूं।  पंकजा ने यह बयान इस सवाल पर दिया कि क्या वह बीजेपी को छोडऩे जा रही हैं।


दरअसल पंकजा मुंडे की इन दिनों बीजेपी नेतृत्व से नाराजगी की चर्चा है।  मुंडे ने कहा कि साल 2014 में ये कहा गया था कि मैं मुख्यमंत्री का पद चाहती थी और अब ये कहा जा रहा है कि मेरी फेसबुक पोस्ट पार्टी में पद पाने की रणनीति है, मुझे लगता है कि पोस्ट के जरिए गलत सूचना फैलाई जा रही है ताकि मेरा पद छीन लिया जाए। 


पंकजा मुंडे ने रविवार को एक फेसबुक पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने लिखा था,  ''मौजूदा राजनीतिक बदलावों की पृष्ठभूमि में भावी यात्रा पर फैसला लेने की आवश्यकता है। खुद से बात करने के लिए मुझे 8 से 10 दिन चाहिए। अब क्या करना है?
पंकजा महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा के दिवंगत नेता गोपीनाथ मुंडे के बेटी हैं। पंकजा साल 2009 और 2014 में बीड जिले की परली विधानसभा सीट से चुनाव जीती थीं। 206 करोड़ की चिक्की घोटाले में उनका नाम आया था।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

विधालय का ताला तोड़कर चोरों ने हजारों का सामान किया चोरी