मिर्जापुर बिन्ध्याचल धाम में निकास द्वार से दर्शन पर पूर्ण प्रतिबंध

मिर्जापुर (स्वतंत्र प्रयाग): उत्तर प्रदेश में मिर्जापुर स्थित प्रसिद्ध बिन्ध्याचल धाम में जिला प्रशासन ने निकास द्वार से दर्शन एवं पूजन पर एक बार फिर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है।आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को यहां बताया कि मिर्जापुर स्थित प्रसिद्ध बिन्ध्याचल धाम में जिला प्रशासन ने निकास द्वार से दर्शन एवं पूजन पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है।


यह प्रतिबंध पंडा पुरोहित तथा सभी वीआईपी पर भी लागू होगा। उन्होंने बताया कि रविवार को पंडो और पुलिस के बीच हुए विवाद और मारपीट के बाद यह निर्णय लिया गया है।गाैरतलब है कि बिन्ध्याचल में मां बिन्ध्यवासिनी देवी के गर्भ गृह में चरण स्पर्श और निकास द्वार से प्रवेश पर बीच बीच में प्रतिबंध लगा रहता है।


इसको लेकर पंडो और पुलिस के बीच कई बार विवाद हाे गया था।सूत्रों ने बताया कि रविवार को निकास द्वार से दर्शन के लिए यजमान लेकर जा रहे एक पंडे को रोक दिया। यह बात पंडाें को नागवार गुजर गयी। फिर विवाद बढा और पुलिस और पंडे आमने-सामने आ गये। विवाद मारपीट तक पहुंच गया।


पुलिस ने कार्य में बाधा उत्पन्न करने के अभियोग में एक पंडा को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने बताया कि अब नियम तोड़ने पर कार्रवाई की जायेगी।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में