खाद्य तेलों का घरेलू उत्पादन पर्याप्त नहीं : पासवान


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग)- उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि भारत में मांग को पूरा करने के लिए खाद्य तेलों का घरेलू उत्पादन पर्याप्त नहीं है। केंद्रीय मंत्री ने शुक्रवार को सदन को इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि इसलिए खाद्य तेलों की मांग और उत्पादन के बीच के अंतर को आयात के माध्यम से पूरा किया जाता है।


राज्यसभा में एक प्रश्न के जवाब में मंत्री ने कहा, "2019-20 के लिए महाराष्ट्र में सोयाबीन का उत्पादन 2018-19 में 45.48 लाख मीट्रिक टन की तुलना में 42.08 लाख मीट्रिक टन होने की उम्मीद है। हालांकि, महाराष्ट्र में 2019-20 में सोयाबीन के 42.08 एलएमटी का अपेक्षित उत्पादन, पिछले पांच साल के औसत उत्पादन 34.77 एलएमटी से अधिक है।" 
पासवान कांग्रेस पार्टी के राज्यसभा के सदस्य कुमार केतकर के उस प्रश्न का जवाब दे रहे थे, जिसमें पूछा गया था कि क्या महाराष्ट्र में बहुत हद तक सोयाबीन फसल के खराब होने के कारण देश में खाद्य तेल की मांग और आपूर्ति के बीच एक बड़ा अंतर है; और यदि ऐसा हैं।


तो सरकार द्वारा खुले बाजार में खाद्य तेल की कीमतों में वृद्धि को रोकने के लिए क्या कदम उठाए गए हैं? उन्होंने कहा कि जहां भी घरेलू उत्पादन में कमी आती है वहां मांग और आपूर्ति में अंतर को खत्म करने के लिए खाद्य तेल का आयात किया जाता है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

विधालय का ताला तोड़कर चोरों ने हजारों का सामान किया चोरी