कर्जे से दबे दो परिवार हुए खत्म, 5 सदस्यों ने जहर खाया-4 ट्रेन के सामने कूद गए

 



डिंडीगुल (स्वतंत्र प्रयाग)-विल्लुपुरम, तमिलनाडु में शुक्रवार को दिल दहलाने वाली घटनाओं में दो परिवारों के नाै लोगों ने आत्महत्या कर ली। पुलिस सूत्रों ने बताया कि विल्लुपुरम जिले में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत जहरीला पदार्थ सायनाइड खाने से हुई है और डिंडीगुल जिले में एक ही परिवार के चार लोगों ने ट्रेन के सामने कूद कर आत्महत्या कर ली।


 सूत्रों ने बताया कि विल्लुपुरम जिले में एक दंपति प्रतिबंधित तीन नंबर की लाटरी में काफी लंबे समय से पैसा लगा रहा था और उन पर 30 लाख रुपए का कर्ज हो गया था। पहले इस दंपति ने अपने तीनों बच्चों को सायनाइड खिलाया और बाद में खुद भी सायनाइड खाकर जान दे दी। यह घटना विल्लुपुरम जिले में सिथेरीकराई क्षेत्र के सलामत नगर की है।


मृतकों की पहचान एम अरुण कुमार (33), पत्नी शिवगामी (26) पुत्रियां प्रियदर्शिनी (5), युवाश्री (3) और भारती (नौ माह) के तौर पर हुई है। अरुण ने सायनाइड खाने से पहले अपने मोबाइल फोन पर वीडियो क्लिपिंग बनाई, जिसमें उसने यह बताया कि वह यह कदम क्यों उठा रहा है और बाद में उसने इसे अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सऐप पर साझा भी किया था।


उसने बताया कि वह साहूकारों से काफी पैसा ले चुका है तथा 30 लाख रुपए से अधिक नुकसान उठा चुका है। दूसरी घटना डिंडीगुल जिले की है जहां कोडाई रोड़ स्टेशन पर एक ट्रेन के सामने चार लोगों ने कूद कर जान दे दी।


रेल पटरी पर उनके क्षत-विक्षत शव देखकर स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी थी। पुलिस ने बताया कि मृतकों की पहचान उथिरापाथी (49) संगीता (40), अभिन्याश्री(15) और आकाश (12) के तौर पर हुई है और वे वाेराईयुर क्षेत्र के रहने वाले थे।