कांग्रेस ने फतेहपुर दुष्कर्म पीड़िता को जलाने के मामले की न्यायायिक जांच की मांग की


लखनऊ (स्वतंत्र प्रयाग): कांग्रेस ने फतेहपुर की दुष्कर्म पीड़िता को जलाने के मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग की है, जिसे शनिवार को उसके 'चाचा' ने आग के हवाले कर दिया था। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला और कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा सहित कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने पीड़िता के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी लेने के लिए लाला लाजपत राय अस्पताल का दौरा किया और रविवार को उसके परिवार के सदस्यों से मुलाकात की।


आराधना मिश्रा ने सोमवार को कहा कि घटना की न्यायिक जांच के आदेश दिए जाने चाहिए।उन्होंने कहा, "पीड़िता 90 प्रतिशत जल गई है। परिवार पूरी जांच चाहता है और खुद की सुरक्षा भी चाहता है। पुलिस इसे आत्महत्या के प्रयास के एक मामले में बदलने की कोशिश कर रही है।" कांग्रेस नेताओं ने उन डॉक्टरों से भी मुलाकात की जो पीड़िता का इलाज कर रहे हैं और परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।


उन्होंने कहा, "उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म और जलाने के मामले बढ़ रहे हैं और राज्य सरकार ने ऐसी घटनाओं की जांच के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। हम परिवार को समर्थन और मदद को लेकर आश्वस्त करने के लिए यहां आए हैं।" कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पार्टी नेताओं को पीड़िता और उसके परिवार से मिलने के लिए भेजा था।