झारखंड दूसरे चरण के चुनाव में दिग्गजों की 'साख' दांव पर

 


 



रांची (स्वतंत्र प्रयाग): झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के बाद दूसरे चरण को लेकर सभी दलों के नेताओं से लेकर कार्यकर्ताओं तक ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। दूसरे चरण के चुनाव मैदान में दिग्गज नेताओं के ताल ठोकने के कारण इस चरण का चुनाव दिलचस्प बन गया है। दूसरे चरण का मतदान सात दिसंबर को 20 विधानसभा सीटों पर होना है और मुख्यमंत्री रघुवर दास सहित कई दिग्गज नेताओं के इस चुनाव में राजनीतिक भाग्य का फैसला मतदाता करेंगे।इस चरण के चुनाव को लेकर पक्ष-विपक्ष के स्टार प्रचारकों का धुआंधार दौरा हो रहा है।


इस चरण के मतदान के लिए जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह चुनाव प्रचार कर चुके हैं वहीं कांग्रेस के लिए पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी झारखंड के चुनावी मैदान में उतर चुके हैं।इस चरण में सबसे दिलचस्प मुकाबला जमशेदपुर (पूर्वी) सीट पर देखने को मिल रहा है, जिसकी चर्चा राष्ट्रीय स्तर पर हो रही है। इस विधानसभा क्षेत्र से जहां मुख्यमंत्री रघुवर दास भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ओर से ताल ठोंक रहे हैं।


वहीं उनके खिलाफ उनके ही कैबिनेट के मंत्री रहे सरयू राय निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर आए हैं। इनके अलावा कांग्रेस से गौरव वल्लभ व झाविमो से अभय सिंह भी टक्कर पुरनोर कोशिश कर मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने में लगे हैं।दूसरे चरण के चुनाव में डेढ़ दर्जन से अधिक दिग्गज चुनाव मैदान में हैं।


इस चरण के चुनाव में चुनाव कुणाल षाड़ंगी, विकास मुंडा और शशिभूषण ऐसे निर्वतमान विधायक चुनावी मैदान में ताल ठोक रहे हैं, जिन्होंने पिछले चुनाव से अलग पार्टी का दामन थामा हुआ है। इस चरण में सरयू राय और पौलुस सुरीन ऐसे निवर्तमान विधायक हैं, जो निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरकर मुकाबले को दिलचस्प बना रहे हैं।


कुणाल षाड़ंगी झामुमो छोड़ कर भाजपा के टिकट पर बहरागोड़ा से चुनाव लड़ रहे हैं जबकि विकास मुंडा आजसू छोड़ कर झामुमो से तमाड़ से चुनावी मैदान में है तथा झामुमो से टिकट कटने के बाद शशिभूषण चक्रधरपुर सीट से झाविमो के उम्मीदवार के रूप में चुनावी मैदान में है।इस चरण में भाजपा के अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ और मंत्री रहे नीलकंठ सिंह मुंडा, सरयू राय, रामचंद्र सहिस की भी राजनीतिक साख दांव पर है।


इस चरण के मतदान में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और घाटशिला से आजसू के प्रत्याशी प्रदीप बालमुचु भी चुनावी भंवर से निकलेंगे या मतदाता इन्हें भंवर में ही छोड़ेगी तय करेगी।इसके अलावे भी इस चरण में मतदाता कई निवर्तमान विधायक और पूर्व मंत्रियों के भाग्य का भी फैसला करेंगे। झारखंड में 81 सदस्यीय विधानसभा के लिए चुनाव पांच चरणों में हो रहे हैं।


30 नवंबर को प्रथम चरण का मतदान हो चुका है। सात दिसंबर को दूसरे चरण का मतदान होना है। उसके बाद 12, 16 और 20 दिसंबर को मतदान होगा। मतगणना 23 दिसंबर को होगी।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में