सोमवार, 30 दिसंबर 2019

जम रहा है उत्तर भारत, दिल्ली एनसीआर में मसूरी जैसे हालात , कश्मीर से भी अधिक ठंड


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग) : पूरा उत्तर भारत आज भीषण सर्दी की चपेट में है। पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तराखंड में भीषण सर्दी पड़ रही है। सुबह कोहरे के कारण सड़क यातायात काफी प्रभावित हुआ और अब तापमान में गिरावट का रुख है। कई शहरों में न्यूनतम तापमान गिरता जा रहा है और लोगों आग जलाकर सेंक रहे हैं। सुबह साढ़े पांच बजे राजधानी दिल्ली के सफदरजंग में न्यूनतम तापमान 2.8 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है।


 दिल्ली में आज भी ठंड का रेड अलर्ट है। दिल्ली में कड़ाके की ठंड के साथ घना कोहरा भी छाया हुआ है। कई इलाकों में विजिबिलिटी शून्य हो गई है। कोहरे और ठंड का असर हवाई और रेल यातायात पर भी पड़ रहा है। यू.पी. के कानपुर में यह 2 डिग्री और लद्दाख के कारगिल जिले के द्रास में पारा -28.6 डिग्री सैल्सियस दर्ज किया गया। मध्य प्रदेश के हिल स्टेशन पंचमढ़ी में तापमान 1.2 डिग्री तक पहुंच गया था। 
                                                                                                                                                                            
वहीं मसूरी शहरों में इस सप्ताह के अंत में अधिकतम तापमान 14 डिग्री दर्ज किया गया। वहीं, दिल्ली में इस दौरान अधिकतम तापमान कम था। शनिवार को दिल्ली में अधिकतम तापमान 14 डिग्री से कम मापा गया।


वहीं, रविवार को जाफरपुर (11.6), मुंगेशपुर (11.9) और पालम (13.5) में तापमान 14 डिग्री से भी कम था। मौसम विभाग के अनुसार, तापमान कम रहने का मुख्य कारण मैदानी इलाकों में कोहरे की चादर होना है। कोहरे के कारण सूर्य की रोशनी जमीन पर सही से पहुंच नहीं पा रही हैं। आने वाले दिनों में भी राहत के आसार नहीं दिख रहे। 


दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में पड़ रही रिकॉर्ड सर्दी के बीच सोमवार को सुबह कोहरे ने समूचे इलाके को अपने आगोश में ले लिया और रेल एवं हवाई यातायात पर इसका व्यापक असर पड़ा। उत्तर रेलवे के अनुसार कोहरे की वजह से 30 रेलगाडिय़ों के आवागमन पर असर पड़ा है। दूसरी तरफ इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर दृश्यता के स्तर में गिरावट के कारण तीन उड़ानों को डायवर्ट करना पड़ा है , हालांकि कोई उड़ान रद्द नहीं की गई है।


सड़कों पर भी दृश्यता कम होने की वजह से यातायात प्रभावित हुआ है। दिल्ली के अलावा एनसीआर के नोएडा , गुरूग्राम , फरीदाबाद और गाजियाबाद समेत अन्य क्षेत्रों में कोहरे छायाष दिल्ली में 14 दिसम्बर से ही कड़ाके की सर्दी पड रही है। शनिवार को सुबह कुछ इलाकों में न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस से भी नीचे दर्ज किया गया था। रविवार सुबह सबसे कम तापमान आया नगर में 2.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।


शनिवार को यहां तापमान 1.7 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया था। दिसम्बर माह में 29 दिसंबर तक औसत तापमान 19.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। यह स्तर 1997 के 17.3 डिग्री के बाद का सबसे कम है। वर्ष 1901 के बाद यह दूसरा मौका है जब दिल्लीवासियों को इतने लंबे समय तक शीतलहर का प्रकोप झेलना पड़ा है। राहत की बात यह है कि स्कूलों में छोटे बच्चों के लिए शीतकालीन अवकाश शुरू हो गया है। इससे इन बच्चों को आज ठिठुरती सर्दी में स्कूल नहीं जाना पड़ा।


मौसम की मार के साथ ही कुछ इलाकों में प्रदूषण का प्रकोप भी बना हुआ है। पूर्वी दिल्ली के आनंद विहार में औसत वायु सूचकांक 462 है जो ' गंभीर स्थिति' में है। ओखला फेज दो में भी यह 494 है। उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी ने बताया कि रविवार तक मसूरी के होटलों में 70 फीसदी बुकिंग हो गयी है। वीकेंड पर अच्छी तादाद पर पर्यटक मसूरी पहुंच चुके हैं। जिस तरह से लगातार बुकिंग आ रही हैं, नए साल पर होटल और गेस्ट हाउस पैक होने की पूरी संभावना है। बताया कि मसूरी में छोटे-बड़े 250 होटल हैं।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें