जालौन जिला के गोवंश आश्रय को लेकर ग्राम पंचायत अधिकारी परेशान


 


उरई (स्वतंत्र प्रयाग)जालौन गौवंश आश्रय स्थल में व्यवस्थायों को लेकर ग्राम पंचायत अधिकारियों की बढ़ी चिंता पर परेशान ग्राम पंचायत संघ ने आठ बिंदुओं पर एसडीएम सालिकराम को ज्ञापन देकर उन ध्यान आकृष्ठ करने की गुहार लगाई है। ज्ञापन में कहा गया है कि आश्रय स्थल के लिए सामग्री मनरेगा से भुगतान होने के कारण ससमय पर नहीं मिलने से परेशानी हो रही है।


भूसा-चारा में ग्रामीणों का कोई सहयोग न होने से गौवंश आश्रय स्थल में इस परेशानी से भी दो-चार होना पड़ रहा है। आश्रय स्थल में अनुपात से ज्यादा गौवंश होने से भी दिक्कत है। इनके लिए केयरटेकर और चौकीदार के लिए कोई दिशा-निर्देश न होने से कैसे व्यवस्था की जाए...गौवंश के घायल होने पर चिक्तिसकों की टीम बनाकर उनका रोस्टर तय कराया जाए।


इसके अलावा ग्राम पंचायत अधिकारियों पर अन्य कार्य होने के कारण वह पूरा समय गौवंश आश्रय स्थल पर नहीं दे सकते है। इन बिंदुओं के ज्ञापन पर एसडीएम ने उच्चाधिकारियों को अवगत करा कर समस्या का हल निकलवाने का आश्वासन दिया है। इस दौरान प्रवीर रत्नम,पवन तिवारी,संगीता यादव,देवेंद्र कुमार सिंह,शिवसागर अवस्थी,शैलेश,गंधर्व,अमित गुर्जर और हेमंत आदि ग्राम पंचायत अधिकारी थे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में