रविवार, 29 दिसंबर 2019

हेमंत सोरेन बने झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री, शपथग्रहण में राहुल-ममता समेत ये दिग्गज रहे मौजूद


रांची (स्वतंत्र प्रयाग): झारंखड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के नेता हेमंत सोरेन रांची के मोरहाबाद मैदान झारखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वहीं हेमंत सोरेन के अलावा कांग्रेस के विधायक आलमगीर आलम, रामेश्वर उरांव और आरजेडी विधायक सत्यानंद भोक्ता ने हेमंत सोरेन के साथ मंत्री पद की शपथ ली है।


44 वर्षीय हेमंत सोरेन राज्य में दूसरी बार मुख्यमंत्री का पद संभालेंगे। वे झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री बने हैं। इसके पहले वह 2013 में कांग्रेस गठबंधन की सरकार में मुख्यमंत्री रह चुके हैं। सोरेन ने इसे राज्य के नवनिर्माण का संकल्प दिवस करार दिया है। सोरेन ने एक विज्ञप्ति जारी कर राज्य की सवा तीन करोड़ जनता से अपील की, 'मोरहाबादी आइए और हम सब इसके साक्षी बनें।' 
 
इससे पहले झारखंड विधानसभा चुनाव में विपक्षी गठबंधन के नेता सोरेन ने अपने सहयोगी दलों कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेताओं और विधायकों के साथ 24 दिसंबर की रात राज्यपाल से मुलाकात कर 50 विधायकों के समर्थन से राज्य में अपनी सरकार के गठन का दावा पेश किया था।
 


हेमंत सोरेन बने झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री, शपथग्रहण में राहुल-ममता समेत ये दिग्गज रहे मौजूदरविवार को हुए हेमंत सोरेन के शपथ समारोह के दौरान मंच पर विपक्ष के तमाम बड़े नेता मौजूद रहे। नई सरकार के शपथ समारोह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, पूर्व राज्यसभा सांसद शरद यादव, राज्यसभा सांसद संजय सिंह, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, सुबोध कांत सहाय, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे।


इसके अलावा डीएमके नेता एमके स्टालिन, जेएमएम नेता और हेमंत सोरेन के पिता शिबू सोरेन, पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह, एनसीपी नेता सुप्रिया सुलेऔर प्रदेश के पूर्व सीएम रघुबर दास भी मंच पर मौजूद रहे।



किसको कितनी मिली थी सीट?


झारखंड विधानसभा चुनाव के बाद जेएमएम की अगुवाई वाला गठबंधन 47 सीटों के साथ सबसे बड़े गठबंधन के रूप में उभरा है। बीजेपी को 25 सीटें मिली हैं। महागठबंधन में जेएमएम को 30, कांग्रेस को 16 और राजद को एक सीट मिली है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें