हैदराबाद केस के मुख्य आरोपी का सनसनीखेज खुलासा, बोला- जब महिला को जलाया तब वह जिंदा थी


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग): हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हुई दरिंदगी ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। इस मामले में कोर्ट ने सभी आरोपियों को सात दिन की रिमांड पर भेज दिया है। इस मामले की सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया गया है। पुलिस कस्टडी में आरोपियों ने इस मामले से जुड़े कई अहम खुलासे किए हैं। महिला डॉक्टर के साथ दरिंदगी की वारदात में मुख्य आरोपी ने सनसनीखेज खुलासा किया है।


मुख्य आरोपी ने बताया है कि जिस वक्त चारों आरोपी डॉक्टर को मरा समझकर जलाने जा रहे थे, उस वक्त वह जिंदा थी।मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुख्य आरोपी मोहम्मद पाशा ने बताया कि गैंगरेप के बाद महिला भाग ना जाए, इसलिए उन लोगों ने उसके हाथ-पैर बांध दिए थे। मुख्य आरोपी पाशा के मुताबिक, उन चारों ने रेप के बाद भी पीड़िता को जबरन शराब पिलाई।


जब वह बेहोश हो गई, तब उसे लॉरी में डालकर पुल के नीचे ले गए। इसके बाद पुल के नीचे ही पेट्रोल से पीड़िता को जला दिया। आरोपी ने बताया कि उन्हें लगा था कि महिला मर चुकी है, लेकिन जब उन्होंने आग लगाई, तो वह चिल्लाने लगी। 


आरोपी पाशा ने बताया कि वे लोग काफी देर तक महिला को जलता देखते रहे। उन्हें लगा कि पुलिस की पकड़ में आ जाएंगे, इसलिए पीड़िता को मार दिया। बता दें कि महिला डॉक्टर का जला हुआ शव तेलंगाना में शादनगर के बाहरी इलाके से बरामद हुआ था। शुरुआती छानबीन में इस बात का खुलासा हो गया था कि महिला डॉक्टर की हत्या से पहले उसके साथ गैंगरेप किया गया था। इसके बाद अंडरपास के नीचे उसे जलाने के बाद फरार आरोपी मौके पर दोबारा वापस आए थे। वो ये चेक करने के लिए आए थे कि शव ठीक से जला या नहीं और कहीं मौके पर कोई सबूत ना रह गया हो।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में