शनिवार, 7 दिसंबर 2019

हैदराबाद एनकाउंटर के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका, आरोपियों के शव सुरक्षित रखने के आदेश

 


 


 



तेलंगाना,(स्वतंत्रप्रयाग)हैदराबाद  की महिला वेटेनरी डॉक्टर से सामूहिक बलात्कार और उसकी हत्या मामले के चार आरोपियों को मुठभेड़ में मार गिराने की घटना के खिलाफ तेलंगाना हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है। इसके बाद हाईकोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया कि आरोपियों के शव 9 दिसंबर तक सुरक्षित रखे जाएं। ये अपील स्वतंत्र कार्यकर्ताओं के एक समूह ने की है. इससे पहले देश भर में इस एनकाउंटर पर अलग अलग प्रतिक्रियाएं आयी। जहां ज्यादातर लोग इस एनकाउंटर के समर्थन में दिखे, तो वहीं कई नेताओं और दूसरे लोगों ने इसे गलत बताया और कहा, कोर्ट के न्याय की जगह बंदूक का न्याय नहीं ले सकता।


कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि महिला पशु चिकित्सक के साथ बलात्कार और उसकी निर्मम हत्या के आरोपियों के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने की घटना को लेकर मजिस्ट्रेट की जांच पूरी होने के बाद कोई रुख तय किया जा सकता है। पार्टी सांसद अमी याग्निक ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, 'मजिस्ट्रेट की जांच हो रही है। मैं अभी से यह नहीं कह सकती कि क्या नतीजा आएगा। हमें इस जांच के पूरा होने का इंतजार करना चाहिए।'बता दें कि हैदराबाद में पशु-चिकित्सक के सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए चार आरोपी शुक्रवार को सुबह पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए। साइबराबाद पुलिस आयुक्त वी सी सज्जनार ने कहा कि चारों आरोपी पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए। मुठभेड़ के दौरान दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें