रविवार, 29 दिसंबर 2019

दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किए गए महानायक अमिताभ बच्चन


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग):महानायक अमिताभ बच्चन को आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दादा साहब फाल्के अवॉर्ड से सम्मानित किया। 23 दिसंबर को 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का वितरण हुआ था। उस दौरान अमिताभ खराब सेहत के चलते यह सम्मान नहीं ले पाए थे। तब उप-राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने फिल्म अवॉर्ड्स का वितरण किया था। समारोह में जया बच्चन, अभिषेक बच्चन के साथ ही कई गणमान्य हस्तियां मौजूद थीं।


दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किए जाने के बाद अमिताभ बच्चन ने भारत सरकार को धन्यवाद दिया है। सम्मान मिलने के बाद बच्चन ने भारत सरकार, ज्यूरी के सदस्यों के प्रति आभार जताया। उन्होंने कहा कि ईश्वर की कृपा, माता-पिता के आशीर्वाद के अलावा भारत की जनता के प्यार की बदौलत आज मैं यहां पर खड़ा हूं।


अमिताभ ने कहा कि जब इस पुरस्कार की घोषणा हुई तो मेरे मन में सवाल आया कि क्या मेरा काम पूरा किए जाने या रिटायरमेंट लिए जाने का यह संकेत है? तो मैं आप सबको बता देना चाहता हूं कि मुझे अभी बहुत काम करने हैं। भारतीय सिनेमा का सर्वोच्च पुरस्कार, भारतीय सिनेमा के पितामह कहे जाने वाले दादा साहब फाल्के के नाम पर दिया है।


यह पुरस्कार 1969 में भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था। यह सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा स्थापित संगठन फिल्म महोत्सव निदेशालय द्वारा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में प्रतिवर्ष प्रस्तुत किया जाता है।अमिताभ बच्चन बॉलीवुड फिल्मों के सबसे प्रतिष्ठित अभिनेता हैं। चार दशकों से ज्यादा का वक्त बिता चुके अमिताभ बच्चन को उनकी फिल्मों से 'एंग्री यंग मैन' की उपाधि प्राप्त है।


उन्हें लोग 'सदी के महानायक' के तौर पर भी जानते हैं और प्‍यार से बिगबी, शहंशाह भी कहते हैं।सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के तौर पर उन्हें 3 बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिल चुका है। इसके अलावा 14 बार उन्हें फिल्मफेयर अवार्ड भी मिल चुका है। फिल्मों के साथ साथ वे गायक, निर्माता और टीवी प्रिजेंटर भी रहे हैं।


भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री और पद्मभूषण सम्मान से भी नवाजा है। अमिताभ बच्चन का जन्म उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुआ था। उनके पिता हरिवंशराय बच्चन जाने-माने कवि हैं। अमिताभ बच्चन की पत्नी का नाम जया बच्चन और बेटे का नाम अभिषेक बच्चन है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें