बर्फबारी के कारण सिक्किम में फंसे 1700 पर्यटक, भारतीय सेना ने बचाई जान



नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग)- भारतीय सेना ने शनिवार को सिक्किम में नाथू ला पास के करीब हुई बर्फबारी में फंसे 1700 पर्यटकों को बचाया। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "27 दिसंबर को 13वीं माइल से नाथू ला पास के बीच भारी बर्फबारी के कारण लगभग 1500 से 1700 पर्यटक फंस गए थे।" उन्होंने कहा, "300 टैक्सियों में यात्रा कर यह पर्यटक त्सो झील- नाथू ला पास से लौटते वक्त वहां फंस गए थे।


" बर्फ से मार्ग अवरुद्ध हो गया, जिससे वे जवाहरलाल नेहरू मार्ग के किनारे विभिन्न बिंदुओं पर बीच रास्ते में फंसे रहे।
सेना अधिकारी ने आगे कहा कि ऐसी स्थिति में सेना ने तुरंत मदद करते हुए कार्रवाई की और खराब दृश्यता व खराब मौसम के बावजूद बड़े पैमाने पर बचाव अभियान शुरू किया।सेना द्वारा फंसे हुए पर्यटकों को भोजन, गर्म कपड़ों और दवाओं सहित राहत प्रदान की गई।


महिलाओं, बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों सहित करीब 1700 पर्यटकों को सेना ने बचाया और इनमें से 570 को 17वें माइल के सेना कैंप में आश्रय दिया। भारतीय सेना अभी भी राहत और बचाव कार्य चला रही है, ताकि सभी फंसे हुए पर्यटकों को सुरक्षित रूप से राज्य की राजधानी गंगटोक भेजा जा सके।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

अंडरलोड ट्रक को सीज कर राजस्व की कर रहे है पूर्ति ओवरलोड अवैध खनन को दे रहे बढ़ावा