शुक्रवार, 6 दिसंबर 2019

आर्थिक सुस्ती गहराने की आशंका में दूसरे दिन टूटा शेयर बाजार


मुंबई (स्वतंत्रप्रयाग): रिजर्व बैंक के विकास अनुमान घटाने के बाद देश में आर्थिक सुस्ती गहराने की आशंका से चिंतित निवेशकों ने शुक्रवार को शेयर बाजार में जमकर बिकवाली की जिससे बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 334.44 अंक यानी 0.82 प्रतिशत लुढ़ककर दो सप्ताह के निचले स्तर 40,445.15 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 96.90 अंक यानी 0.81 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,921.50 अंक पर आ गया।


यह इसका भी दो सप्ताह का न्यूनतम स्तर है। बाजार में बिकवाली चौतरफा रही और दूरसंचार को छोड़कर अन्य सभी समूहों के सूचकांक लाल निशान में रहे। बैंकिंग और वित्तीय कंपनियों के साथ ही ऑटो क्षेत्र ने बाजार पर सबसे ज्यादा दबाव बनाया। मझौली और छोटी कंपनियों में भी बिकवाली हावी रही। 


बीएसई का मिडकैप 1.26 प्रतिशत लुढ़ककर 14,667.37 अंक पर और स्मॉलकैप 0.86 अंक की गिरावट में 13,455.23 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की कंपनियों में येस बैंक के शेयर करीब 10 प्रतिशत टूट गये। भारतीय स्टेट बैंक में तकरीबन पाँच फीसदी और इंडसइंड बैंक में तीन प्रतिशत से अधिक की गिरावट रही। टाटा मोटर्स के शेयर पौने तीन फीसदी टूटे।


हालाँकि, निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक और एचडीएफसी बैंक हरे निशान में रहे। विदेशों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच शेयर बाजार की शुरुआत अच्छी मजबूती के साथ हुई। सेंसेक्स 172.54 अंक चढ़कर 40,952.13 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर भी रहा। घरेलू स्तर पर निवेशकों की निराशा का असर बाजार पर दिखा और बिकवाली के दबाव में दूसरे घंटे में ही बाजार लाल निशान में उतर गया।


इसके बाद यह कभी वापसी नहीं कर सका। बीच कारोबार में एक समय सेंसेक्स 40,337.53 अंक तक उतर गया था। कारोबार की समाप्ति पर यह गत दिवस की तुलना में 334.44 अंक उतरकर 40,445.15 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी 28.95 अंक की बढ़त में 12,047.35 अंक पर खुला। शुरुआती कारोबार में ही यह 12,057.05 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। हालाँकि इसके बाद यहाँ भी बिकवाली हावी हो गयी।


अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 0.81 प्रतिशत लुढ़ककर 11,921.50 अंक पर आ गया। निफ्टी की 50 में से 41 कंपनियों के शेयर लाल निशान में और नौ के शेयर हरे निशान में रहे। बीएसई में कुल 2,708 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,702 के शेयर गिरावट में और 179 के शेयर बढ़त में रहे जबकि 179 कंपनियों के शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें