विजय दशमी महोत्सव के अवसर आयोजित कवि सम्मेलन में कवियों ने अपनी रचनाओं से किया राज्याभिषेक

करछना (स्वतंत्र प्रयाग) प्रयागराज  आदर्श रामलीला समिति आम्बा कौंधियारा प्रयागराज के विजय दशमी महोत्सव मेला में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।
इस वर्ष के इस महोत्सव में संयोग ऐसा बना है कि दो दिन पूर्व ही 70 साल के मानवीय वनवास को भगवान श्रीराम ने पुनः खत्म किया है साथ-ही-साथ मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम ने पुनः अधर्म पर धर्म की विजय पताका को लहराया,


इस महोत्सव में  प्रयागराज की इस पावन  धरती पर नवयुवक कवि संतोष शुक्ल (समर्थ) जी ने कवि सम्मेलन का आयोजन कर 21वीं सदी की नूतन रामराज्य की स्थापना को हर्षोल्लास में परिवर्तित कर दिया, जिसमें क्षेत्र के तमाम नामचीन कवियों ने अपनी कविताओं से जन जन के रोम रोम में भगवान् श्रीराम रूपी रोमांस को कविता रूपी गागर में भर दिया,  जिसके फलस्वरूप आज के इस विजय दशमी महोत्सव को क्षेत्रवासियों के लिए यादगार बना दिया । इस शुुुुभ अवसर समर्थ जी ने अपनी मधुरवाणी से भगवान राम की प्रसंशा करते हुए कहा कि


"रहकर दिलों में सबकें यह छवि धाम बना है,सुमिरन से कटे पाप ऐसा यह नाम बना है।जीवन के कठिन दौर से यह विचलित नहीं हुआ,तब जाकर कहीं कोई पुरुष राम बना है।"



 इस महोत्सव की अध्यक्षता वरिष्ठ कवि रामलोचन साँवरिया जी ने किया , मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय किसान यूनियन के शमण्डल संरक्षक एवं रामलीला महासभा प्रयागराज के अध्यक्ष श्री फूलचन्द दूबे जी उपस्थित रहे । उनके साथ भारतीय किसान यूनियन के डा. बी. के. सिंह और राम सूरत पाण्डेय जी भी मौजूद रहे |
 वहीं पर कार्यक्रम की शुरुआत कवि नारायण दत्त तिवारी जी की वाणी वन्दना से शुरू हुई काव्य यात्रा हँसराज  बेधड़क, रमाशंकर तिवारी निधड़क   गीतकार राजेन्द्र शुक्ल, राजेन्द्र तिवारी दूकान जी से होती हुई नअवधी भाषा के कवि रामलोचन साँवरिया तक पहुँची रामलीला समिति के अध्यक्ष एवं आयोजक श्याम लाल पाण्डेय जी (अधिवक्ता बम्बई हाईकोर्ट) ने सभी लोगों को  सम्मानित  किया तथा अतिथियों के प्रति आभार प्रकट किया | वहीं पर इस कार्यक्रम का संयोजन एवं संचालन क्षेत्र के ही नवयुवक कवि/शिक्षक संतोष शुक्ल (समर्थ)ने किया


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

विधालय का ताला तोड़कर चोरों ने हजारों का सामान किया चोरी