विदेशी फंडिंग में गड़बड़ी : मानवाधिकारों पर काम करने वालीएमनेस्टी के दफ्तरों पर सीबीआई की रेड

नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग) एमनेस्टी के बेंगलुरु और दिल्ली स्थित दफ्तरों पर सीबीआई की विभिन्न टीमों ने आज छापेमारी की है। ये छापेमारी इंटरनेशनल ग्रुप पर नियमों का उल्लंघन करते हुए विदेशी फंडिंग हासिल करने के मामले की जांच के लिए की गई।


एमनेस्टी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मानवाधिकार के लिए काम करती है। सीबीआई की कार्रवाई पर प्रतिक्रिया देते हुए, समूह ने कहा कि उसे देश में मानवाधिकारों के उल्लंघन के खिलाफ बोलने के कारण निशाना बनाया जा रहा है। एमनेस्टी इंटरनेशनल ने बयान जारी कर कहा है कि वह भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पूरी तरह पालन करती है, उसने यह भी आरोप लगायाकि यह कार्रवाई उसे परेशान करने के लिए की गई है।



एननेस्टी इंटरनैशनल इंडिया के एक अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि संस्था के बेंगलुरु स्थित ऑफिस में सीबीआई की करीब 6 लोगों की टीम सुबह साढ़े 8 बजे पहुंची और यह छापेमारी शाम तक जारी रही। अक्टूबर 2018 यानी पूरे सालभर पहले प्रवर्तन निदेशालय ने एमनेस्टी इंटरनेशनल के खिलाफ छापेमारी कर जांच की थी।


 प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि एमनेस्टी इंटरनेशनल ने प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के नियमों का उल्लंघन किया और एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एआईआई) नाम से एक नई कंपनी के खाते में 36 करोड़ रुपये लिए।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में