सियाचिन ग्लेशियर में 8 जवान हिमस्खलन से बर्फ में दबे, राहत कार्य में सेना लगी

नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग): सियाचीन ग्लेशियर पर हिमस्खलन के कारण यहां तैनात सेना के आठ जवानों के बर्फ के नीचे दबे होने की खबर है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सियाचिन ग्लेशियर में आए हिमस्खलन की वजह से सेना के आठ जवान इसमे दब गए हैं। जवानों को बचाने के लिए मौके पर राहत और बचाव का काम चल रहा है। जानकारी के अनुसार यह हिमस्खलन उत्तरी ग्लेशियर में आया है, जोकि तकरीबन 18000 फीट से उपर की ऊंचाई पर स्थित है।



सूत्रों के अनुसार यह हिमस्खलन आज दोपहर तकरीबन 3.30 बजे आया। जब यह हिमस्खलन उत्तरी ग्लेशियर पर आया तो उस वक्त सेना के 8 जवानों की टुकड़ी वहां पर पेट्रोलिंग कर रही थी। खबर लिखे जाने के जवानों की कोई सूचना सामनेे नहीं आई है।
 


ग्लेशियर पर ठंड के मौसम के दौरान हिमस्खलन और हिमस्खलन की घटनाएं आम हैं। बता दें कि कारकोरम क्षेत्र में लगभग 20 हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित सियाचिन ग्लेशियर विश्व में सबसे ऊंचा सैन्य क्षेत्र माना जाता है, जहां सैनिकों को फ्रॉस्टबाइट (अधिक ठंड से शरीर के सुन्न हो जाने) और तेज हवाओं का सामना करना पड़ता है। साथ ही यहां तापमान शून्य से 60 डिग्री सेल्सियस नीचे तक चला जाता है। पूर्व में कई बार सियाचिन में हुए हिमस्खलन के कारण जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में