सात महीने में 37 % खर्च हुआ, पीएम किसान का पैसा,  क्या कहते हैं आंकड़ें

नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग) प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि  योजना के तहत किसानों को मिलने वाले फंड के आंकड़े जारी हुए हैं। इसके मुताबिक जारी हुए कुल फंड में से मौजूदा वित्त वर्ष के शुरुआती सात महीनों में महज 37 फीसदी किसानों को इसका लाभ मिल पाया। मंगलवार (19 नवंबर, 2019) को कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने लोकसभा में बताया कि वित्त वर्ष 2019-20 में किसानों के लिए योजना के तहत 75,000 करोड़ रुपए का फंड जारी किया गया और अक्टूबर के आखिर तक 27,937.26 करोड़ की राशि खर्च की गई। बता दें कि चालू वित्त वर्ष समाप्त होने में अब मुश्किल से पांच महीने कुल बचे हैं।


ऐसे में इस बात की अपार संभावना है कि पीएम-किसान योजना के तहत जो राशि जारी की गई उसमें बहुत सा धन बच जाए।एक सवाल के जवाब में तोमर ने लिखित में जवाब दिया, 'वित्त वर्ष 2019-20 के लिए जारी किए गए 75,000 करोड़ रुपए के फंड में से 31-10-2019 तक करीब 29,937.26 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जा चुकी है। इसमें राज्यों को दिया गया प्रशासनिक खर्ज भी शामिल है।' योजना के तहत धीमी गति से राशि खर्च होने का कोई स्पष्ट कारण नहीं बताते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा, पीएम किसान एक सतत और वर्तमान में लागू योजना है।


जिसमें वित्तीय लाभ लाभार्थियों के बैंक खातों में तब स्थानांतरित किए जाते हैं, जब उनका सही और सत्यापित डेटा पीएम-किसान वेब-पोर्टल पर संबंधित राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा अपलोड किया जाता है। इसलिए संख्या में थोड़ी कमी हो सकती है। वित्त वर्ष 2019-20 की समाप्ति के बाद फंड की वास्तविक स्थिति का पता लगाया जा सकेगा।'


उल्लेखनीय है कि वित्त वर्ष 2018-19 में सरकार ने कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के संशोधित अनुमानों के लिए पीएम-किसान योजना के लिए 20,000 करोड़ रुपए आवंटित किए थे। हालांकि, इस साल 25 जू न को लोकसभा में तोमर द्वारा दिए गए एक लिखित जवाब से पता चलता है कि लाभार्थियों को पिछले वित्तीय वर्ष में पहली किस्त के रूप में 6,662 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था।


बता दें कि पीएम किसान योजान के तहत सरकार सरकार योग्य लाभार्थी को 6,000 रुपये प्रति वर्ष की सहायता प्रदान करती है, जो कि 2,000 रुपए की तीन मासिक किस्तों में दिए जाते हैं। राशि सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में ऑनलाइन भेजी जाती है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल एक फरवरी को 2019-20 के अंतरिम बजट में किसानों के लिए पीएम-किसान योजना की शुरुआत की थी। सरकार ने बताया कि किसान की योजना एक दिसंबर 2018 से प्रभारी रूप से लागू कर दी गई है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में