फ्लोरटेस्ट में पास हुए उद्धव ठाकरे, 169 वोटों से साबित किया

मुंबई (स्वतंत्र प्रयाग): महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे उद्धव ठाकरे ने पहला टेस्ट पास कर लिया है। उन्होंने विधानसभा में आज बहुमत परीक्षण में सफलता हासिल कर ली। बहुमत परीक्षण में कुल 169 वोट उद्धव सरकार के पक्ष में पड़े और विपक्ष में एक भी वोट नहीं पड़ा। 4 विधायक तटस्थ रहे। बहुमत परीक्षण शुरू होने से पहले भाजपा विधायकों ने सदन का वाकआउट किया। 


मनसे ने सरकार के पक्ष में वोट नहीं किया लेकिन पार्टी के विधायक सदन से बाहर भी नहीं गए। कांग्रेस के नेता अशोक चव्हाण ने उद्धव ठाकरे की सरकार का विश्वास प्रस्ताव रखा। इस प्रस्ताव का एनसीपी के नवाब मलिक और शिवसेना के सुनील प्रभु ने अनुमोदन किया था। विश्वास मत प्रस्ताव के तहत पहले सभी सदस्यों से राय जानी गई और उनकी गिनती भी हुई।


विधानसभा में प्रवेश करने से पहले उद्धव ने शिवाजी की मूर्ति को माला पहनाई और आशीर्वाद लिया। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि आज तक कभी भी जब फ्लोर टेस्ट होता है तो पहले रेगुलर स्पीकर की नियुक्ति के बाद होता है इसलिए नियमों को ताक पर रखकर प्रोटेम स्पीकर चुना और फ्लोर टेस्ट करवाया। 


नियमों को और संविधान को तोड़ा गया है जो सभा संविधान के हिसाब से नहीं चलता उसमें हम शामिल नहीं हो सकते। संविधान के नियमों को उल्लंघन हुआ है इसलिए राज्यपाल को यह कार्यवाही रद्द करनी चाहिए। इससे पहले शिवसेना और एनसीपी ने अपने विधायकों को व्हिप जारी करते हुए आज विधानसभा में उपस्थित रहने का निर्देश दिया था। कांग्रेस ने भी अपनी विधायकों को तीन लाइनों की व्हिप जारी की है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

विभिन्न आयु वर्गो हेतु चयन ट्रायल 15 अगस्त को

जिलाधिकारी ने थाना मऊ में समाधान दिवस के अवसर पर सुनी जनता की समस्यायें