मोदी से मिले शरद पवार ,महाराष्ट्र के सियासी सस्पेंस के बीच महत्वपूर्ण घटनाक्रम


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग): महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान के बीच बुधवार को महत्वपूर्ण घटनाक्रम घटित हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार के बीच मुलाकात हुई है। हालांकि इस मुलाकात को किसानों के मुद्दों से जोड़ा जा रहा है लेकिन इस मुलाकात ने सियासी हलकों में चर्चा तेज कर दी है। 


मोदी और और पवार की बीच बातचीत करीब आधे घंटे तक चली। बैठक के समाप्त होने के बाद पवार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मोदी के साथ किसानों को राहत पैकेज देने के मुद्दे पर बात हुई और प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र में किसानों की दिक्कतों को दूर करने का आश्वासन दिया है। महाराष्ट्र में शिवसेना और कांग्रेस के साथ मिल कर सरकार के गठन के बारे में पूछे जाने पर हालांकि उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।


वहीं, शरद पवार ने पीएम मोदी को पत्र लिखा जिसमें उन्होंने कहा कि मैंने दो जिलों से फसल क्षति के आंकड़ें जुटाएं है। लेकिन जरुरत से ज्यादा बारिश के कारण नुकसान महाराष्ट्र के बाकी हिस्सों तक फैला है, जिनमें मराठवाड़ा और विदर्भ शामिल हैं।


मैं उसी के बारे में विवरण और जानकारी एकत्र कर रहा हूं, जल्द से जल्द आपको जानकारी भेजी जाएगी। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में अभी तक सरकार बनाने की स्थिति स्पष्ट नहीं हुई है। 


इन चर्चाओं पर विश्वास करें तो माना जा रहा है कि एनसीपी के कुछ सांसदों ने सरकार बनाने के लिए शरद पवार से बीजेपी के साथ जाने की अपील की है। ये नेता इसके लिए अजीत पवार को भी मनाने में जुटे हैं। चर्चाओं की मानें तो अगर एनसीपी सरकार बनाने के लिए बीजेपी से हाथ मिलाती है तो राज्य मंत्रिमंडल में तो उसे कई अहम पद मिलेंगे ही केंद्र में भी पार्टी को 3 अहम पद दिए जाएंगे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में