एनसीपी नेता नवाब मलिक का दावा, अजित ने विधायकों के समर्थन की चिट्ठी का गलत उपयोग किया 

 मुंबई (स्वतंत्र प्रयाग): महाराष्ट्र में शनिवार को हुई सियासी उठापटक के बाद आरोपों का दौर चल गया है। एनसीपी के वरिष्‍ठ नेता नवाब मलिक ने अब अजित पवार ने दावा किया है कि उन्होंने विधायकों के हस्ताक्षर का गलत इस्तेमाल किया है। उन्होंने कहा कि अजित ने विधायकों के हाजिरी के लिए हस्ताक्षर लिए और फिर उन्होंने इसे समर्थन पत्र के तौर पर राज्यपाल को सौंप दिया।


इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अजित ने एनसीपी के साथ ही विधायकों को भी धोखे में रखा है।नवाब मलिक ने कहा कि हमने हाजिरी के लिए विधायकों के हस्ताक्षर लिए थे जिसका गलत इस्तेमाल शपथ ग्रहण समारोह के लिए किया गया। नवाब मलिक ने दावा किया कि सारे विधायक पार्टी के साथ खड़ें हैं।


उन्होंने कहा, 'यह धोखे से बनाई गई सरकार है और यह विधानसभा के फ्लोर पर हारेगी। सारे विधायक हमारे साथ हैं। बता दें महाराष्ट्र में नाटकीय घटनाक्रम के तहत राज्यपाल बी.एस. कोश्यारी ने शनिवार सुबह बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस को राज्य के मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजीत पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई।  दोनों नेताओं ने शनिवार सुबह लगभग आठ बजे राजभवन में एक कार्यक्रम में शपथ ली।


इस दौरान बीजेपी और एनसीपी के नेताओं के साथ-साथ अन्य सरकारी अधिकारी मौजूद थे। सरकार बनने के बाद शरद पवार ने ट्वीट कर यह कहा कि अजित पवार का बीजेपी को समर्थन देने का फैसला उनका निजी फैसला है।


शरद पवार ने कहा, 'अजित पवार का बीजेपी को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने का फैसला उनका निजी फैसला है, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का इससे कोई संबंध नहीं है। हम यह कहना चाहते हैं कि हम उनके इस फैसले का न तो समर्थन करते हैं और न ही सहमति देते हैं।'


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में