चीन, पाक सीपीईसी आर्थिक गलियारे पर सहयोग बढ़ाएंगे 

अंतर्राष्ट्रीय खबर


इस्लामाबाद (स्वतंत्र प्रयाग): चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) की नौवीं संयुक्त सहयोग समिति (जेसीसी) के दौरान दोनों देश सीपीईसी के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने पर सहमत हो गए हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, पाकिस्तान के योजना, विकास और सुधार मंत्री खुसरो बख्तियार ने मंगलवार को कहा कि सीपीईसी के लिए यह साल बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इस साल कई उपलब्धियां हासिल की गई हैं या साल के अंत तक हासिल की जाएंगी।यहां आए दोनों तरफ की सरकारों, वित्तीय संस्थानों और कंपनियों के लगभग 200 प्रतिभागियों से उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री इमरान खान की हालिया यात्रा और चीनी सरकार से कृषि, औद्योगिक तथा सामाजिक-आर्थिक विकास के विविध क्षेत्रों में उनकी वार्ता वास्तव में विस्तृत रही और उसमें भविष्य में सहयोग की संभावनाओं को बढ़ाया गया।"
 
मंत्री ने कहा कि सीपीईसी एक ऐसा गलियारा है जो पूरे क्षेत्र और उससे भी आगे के लिए सहयोग का रास्ता खोलता है। उन्होंने कहा कि उनके देश ने सीपीईसी अथॉरिटी स्थापित की है जो सीपीईसी से संबंधित सभी मुद्दों के निपटने के लिए वन विंडो के तौर पर काम करेगा जिससे पाकिस्तान सरकार प्रोजेक्ट्स की गति को तेज कर सके और उन्हें लागू करने के बीच आने वाले सभी व्यवधानों को हटा सके।वहीं नेशनल डेवलपमेंट एंड रिफॉर्म कमीशन के उप प्रमुख निंग जिझे ने कहा कि दोनों तरफ का नेतृत्व सभी डोमेन में द्विपक्षीय सहयोग में महत्वपूर्ण सहमति पर पहुंच चुका है। उन्होंने द्विपक्षीय समझौतों की आगे की स्थिति पर ध्यान दिलाया।निंग ने कहा कि सीपीईसी ने कम समय में ही कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल कर ली हैं और उच्च गुणवत्ता के विकास के आगामी विस्तृत चरण में प्रवेश किया है।दोनों देशों ने ऊर्जा, परिवहन इंफ्रास्ट्रक्चर, औद्योगिक सहयोग, ग्वादर पोर्ट तथा सामाजिक-आर्थिक सेक्टरों में प्रगति दर्ज की गई और कई समझौैते हुए।दोनों पक्षों ने स्वास्थ्य, युवाओं के आदान-प्रदान तथा ग्वादर पोर्ट के विकास पर भी समझौते किए और सहयोग बढ़ाने के दस्तावेज साझा किए।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में