तांत्रिक महिला बनीं हैवान, 4 साल की बच्ची का पी गई खून

सुंदरगढ़ (स्वतंत्र प्रयाग): ओडिशा के सुंदरगढ़ इलाके के आदिवासी बहुल गांव झुमका में दिल दहलाने वाली घटना से हड़कंप मच गया है। झुमका में महिला  तांत्रिक ने काले जादू में सिद्धी प्राप्त करने के लिए बच्ची की बलि चढ़ाने का प्रयास किया। यहां तक कि आरोपी महिला ने बच्ची का खून तक पीया।


 महिला तांत्रिक कई दिनों से काले जादू का अभ्यास कर रही थी। तांत्रिक महिला का नाम इंद्राणी साध है। बच्ची शनिवार को आंगनबाड़ी से घर पहुंची थी। इसके बाद वो शाम को घर के बाहर खेल रही थी। तभी आरोपी महिला उसे अपने साथ ले गई। जब बच्ची के गायब होने की खबर गांव में आग की तरह फैली, तो सब उसे ढूंढने निकल पड़े। तलाशी के दौरान टिन के डिब्बे में बच्ची पड़ी मिली। गांववाले उस वक्त हैरान रह गए जब उन्होंने बच्ची की गर्दन और पेट पर चोट के निशान देखे। बच्ची को फौरन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। बच्ची की मौत की सूचना के बाद पूरे गांव में तनाव फैल गया। प्रशासन ने तनाव को कम करने और किसी भी तरह की हिंसा को रोकने के लिए पूरे इलाके में दो जवानों के दो प्लाटून को तैनात कर दिया और आरोपी महिला को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

विधालय का ताला तोड़कर चोरों ने हजारों का सामान किया चोरी