महाराष्ट्र में बढ़ रहा चक्रवाती तूफान 'क्यार' का खतरा, सौ से अधिक नावों और हजारों लोगों को बचाया गया

राष्ट्रीय खबर


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग): मुंबई से 310 किमी दूर और पश्चिम रत्नागिरी से 200 किमी दूर चक्रवाती तूफान 'क्यार' का खतरा बढ़ता जा रहा है। शनिवार को कर्नाटक के मंगलौर बंदरगाह पर 100 मछुआरे बोट को समुद्र से रेस्क्यू कर किनारे लाया गया है।


करीब हजार मछुआरों को भी तटीय इलाकों से रेस्क्यू कर सुरक्षित जगहों पर रखा गया है। इसके साथ ही हजारों लोगों को बंदरगाह के सुरक्षित स्थान में आश्रय प्रदान किया गया। वहीं कर्नाटक में भी भारी बारिश की खबर है।
 
कर्नाटक के उडुपी के कुछ हिस्सों में आज तेज बारिश हुई। मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को गोवा, कर्नाटक और दक्षिण कोंकण के तटीय जिलों में हल्की से मध्यम वर्षा की चेतावनी जारी की थी। मौसम विभाग ने बताया था कि हवा की गति 90 किमी प्रति घंटे से 110 किमी प्रति घंटे के बीच हो सकती है।


इससे एक दिन पहले मौसम विभाग के मुंबई केन्द्र ने कहा कि अरब सागर में गहरे विक्षोभ के चलते चक्रवाती तूफान क्यार तेज हो गया है।हवा की गति रविवार तक बढ़कर 200 प्रति घंटे की रफ्तार भी हो सकती है।


इस्ट-सेंट्रल अरेबियन सागर में समुद्री वातावरण में भी बदलाव देखा जा सकता है। वेस्ट-सेंट्रल अरेबियन सागर में 28 से 31 अक्टूबर तक हालात बेहद नाजुक हो सकते हैं।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

विभिन्न आयु वर्गो हेतु चयन ट्रायल 15 अगस्त को

जिलाधिकारी ने थाना मऊ में समाधान दिवस के अवसर पर सुनी जनता की समस्यायें