ननकाना साहिब गुरुद्वारे को लोगों ने घेरा,जमकर बरसाए पत्थर,उपद्रवियों ने सिक्ख परिवार वालों को दीं धमकियां

 


 



लाहौर (स्वतंत्र प्रयाग): पाकिस्तान से बड़ी खबर है। यहां ननकाना साहिब में सैकड़ों लोगों की भीड़ ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे साहिब परपत्थरबाजी की। इस पत्थरबाजी करने वाले लोग यहां से सिखों से भगाने और शहर का नाम गुलाम अली मुस्तफा करने की धमकियां दे रहे थे। हालात इतने बदतर हो गए थे कि गुरुद्वारा साहिब में शबद कीर्तन का कार्यक्रम भी रद्द कर दिया गया। आज दशम पिता श्री गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में श्री अखंड पाठ शुरू होने वाला था। इसी से पहले सैकड़ों कट्टरपंथियों ने गुरुद्वारा साहिब पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिया। इस महले में इलाके में तनाव का माहौल है। 



सबसे बड़ी बात ये कि भीड़ का नेतृत्व पिछले साल ननकाना साहिब की एक सिख लड़की जगजीत कौर को अगवा करने और जबरन धर्मांतरण कर निकाह करने के आरोपी मोहम्मद हसन का परिवार कर रहा है। उनका आरोप है कि अपनी मर्जी से इस्लाम कबूलने और शादी करने वाली लड़कियों को लेकर सिख समुदाय बेवजह हंगामा खड़ा करता है। 



बता दें कि पिछले साल जिस जगजीत कौर का जबरन धर्मांतरण हुआ था, वह ननकाना साहिब गुरुद्वारे के ही ग्रंथी की बेटी हैं। यह मामला ऐसे वक्त में सामने आया है जब लाहौर में शनिवार से तीन दिन का अंतरराष्ट्रीय सिख सम्मेलन आयोजित हो रहा है। मनजिंदर सिंह सिरसा ने पाकिस्तान के ननकाना साहिब में हुई वारदात पर कहा कि ये हरकत बेहद घटिया किस्म की है। उन्होंने कहा कि पीड़ितों ने पुलिस को फोन किया मगर पुलिस अबतक नहीं पहुंची है।