शनिवार, 28 दिसंबर 2019

PoK में कुछ बड़ा करने की फिराक में पाकिस्तान, नागरिकों को ढाल बनाकर सेना बना रही कैंप


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग) : पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में पाकिस्तान कुछ बड़ा करने की फिराक में है। पाकिस्तान की ओर से सीमा पर सेना की हलचल देखी जा रही है। नीलम वैली में भारत और पाकिस्तान की ओर से की जा रही फायरिंग के बीच एलओसी पर भी पाकिस्तानी सेना लगातार तोपो की संख्या बढ़ा रही है।


खबर मिली है कि पिछले 10 दिनों के अंदर एलओसी पर सैन्य वाहनों के लंबे-लंबे काफिले भारी तोपों के साथ पहुंच रहे हैं। इससे पहले इस तरह की हलचल कारगिल युद्ध के समय ही देखने को मिली थीं। पाकिस्तानी सेना की तमाम रिजर्व टुकड़ियां भी एलओसी के आसपास कैंप बना रही हैं।


पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पहले ही शक जताया है कि भारत पीओके पर कभी भी हमला कर सकता है। पाकिस्तानी सेना ने इसी डर को भांपते हुए भारी संख्या में आर्टिलरी हथियार एलओसी भेज दिए हैं।


बताया जा रहा है कि इन हथियारों को प्लास्टिक शीट्स से कवर कर एलओसी की तरफ लाया गया है।पाकिस्तान सेना के एक अधिकारी ने बताया कि अगर भारत ने पीओके में आगे बढ़ने की कोशिश की तो पाकिस्तानी सेना के पास उसे रोकने के अलावा कोई चारा नहीं होगा। यही कारण है कि सेना की रिजर्व टुकड़ियों को एलओसी पर भेजा जा रहा है।


पाकिस्तानी सेना ने भारत के हमले से बचने के लिए एक बार फिर पीओके के नागरिकों को ढाल बनाने की नापाक कोशिश की है। लोगों में पाक सेना के प्रति बढ़ रहे अविश्वास को देखते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान ने एलओसी में बसे लोगों की आर्थिक मदद करने का ऐलान किया है। हालांकि इस आर्थिक मदद लेने वाले परिवार के लिए शर्त रखी गई है कि वह पीओके को छोड़कर कहीं भी नहीं जाएंगे।


बताया जा रहा है एलओसी के दायरे में आने वाले 33,498 परिवार को हर महीने 1546 पाकिस्तानी रुपये देने का ऐलान किया है


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें