सोमवार, 9 दिसंबर 2019

फिनलैंड में सना मरीन ने रचा इतिहास, दुनिया की सबसे कम उम्र की प्रधानमंत्री बनीं


हेलसिंकी (स्वतंत्र प्रयाग): फिनलैंड की सोशल डेमोक्रेट पार्टी ने रविवार को प्रधानमंत्री पद के लिए 34 वर्षीय पूर्व परिवहन मंत्री सना मरीन को चुना। इसी के साथ वह देश के इतिहास में सबसे युवा प्रधानमंत्री बन गई हैं।


मरीन ने रविवार को हुआ मतदान जीतकर निवर्तमान नेता एंटी रिने का स्थान लिया जिन्होंने डाक हड़ताल से निपटने को लेकर गठबंधन सहयोगी सेंटर पार्टी का विश्वास खोने के बाद मंगलवार को इस्तीफा दे दिया था। मरीनमरीन ने रविवार रात को पत्रकारों से कहा, ''हमें फिर से विश्वास बहाल करने के लिए काफी काम करना होगा।


'' अपनी उम्र से संबंधी सवालों पर उन्होंने कहा, ''मैंने कभी अपनी उम्र या महिला होने के बारे में नहीं सोचा। मैं कुछ वजहों से राजनीति में आयी और इन चीजों के लिए हमने मतदाताओं का विश्वास जीता।


'' मरीन (34) दुनिया की सबसे युवा राष्ट्र प्रमुख बन गई है। उनके बाद यूक्रेन के प्रधानमंत्री ओलेक्सी होन्चारुक अभी 35 वर्ष के हैं। मरीनलॉमेकर्स के मारिन और उनकी नई सरकार की नियुक्ति को जल्द ही मंजूरी देने की संभावना है ताकि वह ब्रसेल्स में 12-13 यूरोपीय संघ के नेताओं के शिखर सम्मेलन में फिनलैंड का प्रतिनिधित्व कर सकें।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें