शुक्रवार, 6 दिसंबर 2019

हिमाचल  ठोस व तरल कचरा प्रबंधन के लिए आमजन की सहभागिता आवश्यक : राजवंत संधू


सोलन(स्वतंत्र प्रयाग) - राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण समिति की अध्यक्ष राजवंत संधू ने आज यहां जिला में ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन को लेकर आयोजित बैठक की अध्यक्षता की। राजवंत संधू ने इस अवसर पर कहा कि हिमाचल जैसे पहाड़ी प्रदेश को सदैव हरा-भरा रखने के लिए ठोस एवं तरल कचरे का वैज्ञानिक निपटान आवश्यक है।


उन्होंने कहा कि विभिन्न स्थानीय शहरी निकायों एवं ग्राम पंचायतों को यह सुनिश्चित बनाना होगा कि घर-घर से कचरा एकत्रित करते समय इसे जैविक एवं अजैविक अलग-अलग एकत्रित किया जाए।


इससे जहां जैविक कचरे का त्वरित उपयोग सुनिश्चित होगा, वहीं अजैविक कचरे के व्यवस्थित निपटारे एवं भविष्य में इसे प्रयोग लाए जाने की संभावनाएं बढ़ेंगी।उन्होंने कहा कि सोलन, हिमाचल प्रदेश का प्रमुख औद्योगिक नगर है और सोलन जिला में औद्योगिक कचरे के सुरक्षित एवं वैज्ञानिक निपटान पर ध्यान दिया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में सभी संबंधित अधिकारियों को कार्य योजना बनाकर काम करना होगा।


समिति की अध्यक्ष ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी सोलन को निर्देश दिए कि विभिन्न अस्पतालों इत्यादि में बायो वेस्ट के शत-प्रतिशत निपटारे के लिए योजनाबद्ध कार्य करें। उन्होंने सभी स्थानीय शहरी निकायों में विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी विभाग द्वारा निर्धारित कम लागत की तकनीक अपनाने पर बल दिया।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें