भविष्य के ग्राहकों को 55 करोड़ रुपए के ऋण स्वीकृति पत्र सौंपे :-बैंक ऑफ इंडिया


लुधियाना(स्वतंत्र प्रयाग) : पंजाब कुल कारोबार के हिसाब से देश के पांचवें बड़े सरकारी बैंक- बैंक ऑफ इंडिया के प्रधान कार्यालय, मुंबई से कार्यपालक निदेशक चैतन्य गायत्री चिंतपल्ली ने लुधियाना अंचल का दौरा किया। बैंक ऑफ इंडिया का कुल कारोबार लगभग 9 लाख करोड़ रुपए है।


तथा बैंक देश की अर्थव्यवस्था की वृद्धि में अहम भूमिका निभाने के लिए अपने कुल कारोबार को 10 लाख करोड़ रुपए से अधिक तक ले जाने के लिए प्रयासरत है। बैंक ऑफ इंडिया के कार्यपालक निदेशक महोदय का लुधियाना दौराइसी योजना के अंतर्गत हुआ है।


कार्यक्रम की शुरुआत परंपरा के अनुसार दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुई और इसके बाद लुधियाना अंचल के आंचलिक प्रबन्धक कुलदीप जिंदल ने स्वागत सम्बोधन देते हुए राष्ट्रीय बैंकिंग समूह-उत्तर के महाप्रबंधक एस के स्वैन को मंच सौंप दिया। 


महाप्रबंधक महोदय ने संबोधित करते हुए लुधियाना अंचल में बैंक ऑफ इंडिया द्वारा प्रदान की जा रही बैंकिंग सेवाओं की स्थिति के बारे में माननीय कार्यपालक निदेशक महोदय को अवगत करवाया तथा लुधियाना अंचल के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए ग्राहकों के लिए बैंक ऑफ इंडिया के बैंकिंग अनुभव को उन्नत बनाने हेतु मार्गदर्शन किया।


तत्पश्चात माननीय कार्यपालक निदेशक चैतन्य गायत्री चिंतपल्ली हर घर दस्तक कैम्पैन में शामिल हुए तथा उन्होंने भावी ग्राहकों को 55 करोड़ रुपए के ऋण स्वीकृति पत्र सौंपे। उसके बाद वे शाखा प्रमुखों से मुखातिब हुए एवं कामकाज की जानकारी ली तथा एनपीए ग्राहकों से मुलाक़ात के साथ -साथ बैंक की सेवाओं को उत्कृष्ट बनाने के संबंध में मौजूदा ग्राहकों के साथ सार्थक चर्चा की।


बैंक ऑफ इंडिया के लुधियाना अंचल द्वारा पंजाब के 14 जिलों में प्रदान की जा रही बैंकिंग सेवाओं की सराहना करते हुए उन्होने अपने अनुभव पर आधारित व्यावहारिक सुझाव दिए। उन्होने सभी स्टाफ सदस्यों का मार्गदर्शन किया एवं मनोबल बढ़ाया। उन्होने सरकारी योजानाओं के बेहतर कार्यान्वयन के माध्यम से बैंक और देश की समृद्धि के लिए कार्य करने हेतु सभी बैंक अधिकारियों को निर्देशित किया।


कार्यक्रम का समापन आंचलिक प्रबंधक श्री कुलदीप जिंदल ने माननीय कार्यपालक निदेशक का आभार व्यक्त करते हुए सभी आमंत्रितों को सार्थक सहभागिता के लिए धन्यवाद ज्ञापन के साथ किया। अंत में कार्यपालक निदेशक, महाप्रबंधक एवं आंचलिक प्रबन्धक ने प्रैस वार्ता को संबोधित किया