CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे जामिया के छात्रों ने तीन बसों में लगाई आग

 


 




नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग): नागरिकता संशोधन कानून (सीएए)के विरोध में जामिया के प्रदर्शनकारी छात्रों ने मथुरा रोड को जाम करने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और हल्का बल प्रयोग किया। प्रदर्शनकारियों ने तीन बसों में आग लगा दी है। आग बुझाने के लिए दमकल की चार गाड़ियां मौके पर पहुंची थीं।


बसों में लगी आग बुझाने के दौरान ही छात्रों ने गाड़ियों पर हमला कर दिया, जिसमें एक फायरमैन को चोटें आई हैं। अब जामिया के छात्रों ने कालिंदी कुंज रोड पर नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है।पुलिस लगातार प्रदर्शनकारियों को वापस जाने की गुजारिश कर रही है लेकिन प्रदर्शनकारी जुलेना से पीछे हटने को तैयार नहीं है। यहां हालात तनावपूर्ण है।


कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए कई थानों की पुलिस को तैनात किया गया है। प्रदर्शनकारी 'संविधान बचाओ' और 'लोकतंत्र बचाओ' के नारे लगा रहे हैं। सीएए के खिलाफ जामिया नगर भी आज बंद है और हजारों की तादाद में लोग सड़कों पर मार्च कर रहे हैं। 



प्रदर्शन कर रहे लोग दो किलोमीटर लंबी मौलाना मोहम्मद अली जौहर मार्ग पर मार्च कर रहे हैं। ओखला मोड़ के पास बड़ी संख्या में लोग जमा हैं और सीएए के विरोध में नारेबाजी कर रहे हैं। इसके अलावा कालिंदी कुंज के पास भी बड़ी संख्या में लोग जमा हैं और नारेबाजी कर रहे हैं।


 
प्रदर्शनकारियों का कहना है सरकार मुसलमानों को निशाना बनाने के लिए ऐसे कानून लेकर आ रही है। सरकार मुसलमानों को दोयम दर्जे का नागरिक बनाना चाहती है। जामिया विश्विद्यालय में हालांकि शीतकालीन छुट्टी की घोषणा हो गई है लेकिन आज स्थानीय लोगों के साथ छात्र भी सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं।