अमेरिका ने हिजबुल्ला समर्थक 2 लेबनानी व्यापारियों पर लगाया प्रतिबंध



वाशिंगटन (स्वतंत्र प्रयाग): अमेरिकी सरकार ने लेबनान के दो व्यापारियों पर हिज्बुल्लाह की वित्तीय सहायता करने का आरोप लगाते हुए उन पर प्रतिबंध लगा दिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि नजीम अहमद और सालेह अस्सी ने कई सालों तक धन शोधन और कर चोरी जैसी अवैध वित्तीय गतिविधियों के माध्यम से हिजबुल्ला की वित्तीय सहायता की है।


पोम्पियो ने कहा, "लेबनान और मध्य पूर्व में स्थिरता के खिलाफ हिजबुल्लाह द्वारा पैदा किए गए प्रत्येक खतरे का मुकाबला करने के लिए हम हर संभव तरीका अपनाएंगे।" वित्त विभाग द्वारा अलग से दिए गए बयान के अनुसार, प्रतिबंधित लोगों की अमेरिकी क्षेत्राधिकार के अधीन आने वाली सारी संपत्ति और हितों को रोक दिया जाएगा।


इससे पहले इसी महीने हिजबुल्ला के डिप्टी लीडर शेख नईम कासेम ने 'लेबनान के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए' अमेरिका की आलोचना की थी।


कासेम ने कहा था, "पोम्पियो नहीं चाहते हैं कि आगामी सरकार में हिजबुल्लाह की भूमिका हो, जबकि पार्टी लेबनान की बड़ी आबादी के हिस्से का प्रतिनिधित्व करता है।" अमेरिकी विदेश विभाग ने अक्टूबर 2001 में हिज्बुल्ला को वैश्विक आतंकवादी संगठन घोषित किया था